Sihora Corona Aid (Wave 2) | Milaap
Sihora Corona Aid (Wave 2)
20%
Raised
Rs.100,366
of Rs.500,000
53 supporters
  • Siddharth

    Created by

    Siddharth Goyal
  • SG

    This fundraiser will benefit

    Siddharth Goyal

    from Madya Pradesh

SIHORA WELFARE FOUNDATION FUNDRAISER FOR INITIATIVE-
Sihora Corona Aid (Wave 2) Started April 25th 2021

We are in times of crisis like never before, situations in the ground are worsening and we are loosing people to the pandemic. Sihora Welfare Foundation is committed to provide any kind of relief we can to the society & try to help our people as much as we can to fight the corona virus & Covid. Please follow the ‘Sihora Welfare Foundation’ page for daily updates of relief work from these donations. Even if we save one life it will be enough, what if we save more.

Donate generously, society needs every single penny to save every single life we can.

>> Providing oxygen/breathing aid assistance
>>Medical facilities betterment and support
>>Support emergency requests for needy
>>Food, masks, sanitization equipment on a mass scale
Sihora Corona Aid (Started 31 March 2020)
Who knew the world was going to be hit by this Pandemic. The most unprepared are the daily wagers. No savings, no stocks of food, no work to do, no money to buy the poor are the one's who might starve. Let's help them not suffer.

Sihora, Jabalpur (M.P.) our hometown is under the wrath of this corona virus pandemic. I am trying to get us all together to give back to our community. Your contribution will be used to deliver ration, food supplies, basic utility materials to go through these times of pandemic.

We will be supplying to the poor neighborhoods-
1. Masks
2. Food supplies
3. Basic Utilities
4. Raise Awareness (Educating about the disease, why is it necessary to self-isolate and how to prevent getting/spreading infection) How to use mask, sanitizer, wash hands etc.

------------------------------------------------------------------------------------------------------
चहूँ ओर भय का वास है, भीड़ जब अभिशाप है
निज एकता ऐसे समय भी, सहयोग की साक्षी बने ।
कुछ मैं अपने बाँट लूँ, कुछ तुम अपने बाँट लो
बाँटे हुए ये कौर अपने, भूख को ललकारती थाली बने ।

हम सभी एक ऐसी विकट परिस्थिति से घिरे हुए हैं, जिसमें यह भी ज्ञात नहीं कि कितने दिनों तक अपने ही घर पर बंधित रहना होगा । यह एक भावनात्मक कष्ट तो है ही, अपितु एक आर्थिक समस्या बनकर भी उभर रहा है, विशिँष्टत: समाज के उस वर्ग के लिए जिसे प्रतिदिन अपनी आजीविका के लिये संघर्ष करना होता है ।

हम प्रणाम करते हैं, हर उस व्यक्ति को जो अपने प्राणों की चिन्ता किये बिना अपने कर्तव्य निर्वहन में दिन रात लगा हुआ हैं, चाहे वो ईश्वर के प्रतिरूप डाक्टर हों, सफ़ाई कर्मी हों, पुलिस/सेना के जवान या फिर भोजन की व्यवस्था कर वितरित करते हुए गणमान्य नागरिक ।

हम प्रार्थना करते हैं कि इस विषम परिस्थिति में कोई इसलिये भूखा न रहे कि वो क्योंकि सब कुछ बंद होने के कारन वह आर्थिक संकट का सामना कर रहा है, या फिर बाहर का होने के कारण समुचित व्यवस्थायें नहीं कर सका। या ऐसा न हो कि आर्थिक अभाव के कारण कोरोना महामारी से बचने के समुचित साधनों की व्यवस्था न कर सके ।

इतिहास साक्षी है कि जब जब हमारे देश पर विपत्ति आयी है, हम सारी विभिन्नताओं को भुला कर एक जुट हुए हैं और मिलकर संघर्ष किया है। अंतर मात्र इतना है कि इस बार हमें घर के भीतर से ही लड़ायी लड़नी है, उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान कर जो प्रत्यक्ष रूप से सेवा कार्य में लगे हुए हैं ।

कृपया अपना अधिक से अधिक सहयोग प्रदान कर अपने देश को इस विपत्ति का सामना करने की शक्ति प्रदान करें ।

धन्यवाद । जय हिन्द 🙏🇮🇳

Read More

support