Ann Patra India To Ensure No One Remains Hungry | Milaap
Ann Patra India To Ensure No One Remains Hungry
1%
Raised
Rs.1
of Rs.5,000,000
1 supporter
  • TM

    Created by

    Tarun Manav
  • Pa

    This fundraiser will benefit

    Poor and Needy people

    from Ghaziabad, Uttar Pradesh

Story

Hi there,
My name is Tarun Manav 41 years old from Ghaziabad, Uttar Pradesh, I am here to raise funds for Prerna Sewa Sansthan, I am the founder, We are started Ann Patra India Project to Eradicate Hunger.

  • Hunger has no Religion.
वर्ष 2011 मे सुबह के समय मैंने देखा एक कूड़े से भरा रिक्शा कूड़ेदान के पास आकर रुका और उसने रिक्शे मे रखा बासी, सडा गला खाना और कूड़ा कूड़ेदान के पास फेंक दिया और उसके जाते ही झुग्गी झोंपड़ी मे रहने वाले.

 कबाड़ा चुनने वाले बच्चे रिक्शे से फैंके कुड़ें के ढेर मे कुछ खाने को ढूँढने लगे I मै ये दृश्य देख कर स्तब्ध रह गया और वहाँ से चला गया I घर के रास्ते मे सरकारी अस्पताल पड़ता है वहाँ दवाई लेने गया तो वहाँ एक बुजुर्ग व्यक्ति ने खाना खाने के लिए 20 रूपए माँगे , मैंने पूंछा बाबा क्या हुआ तो उन्होंने बताया की वो गरीब है और उनकी धर्म पत्नी अस्पताल मे 2 दिन से भर्ती  है पर अस्पताल मे इलाज और खाना फ्री सिर्फ मरीज को ही मिलता है I इसलिए वे 2 दिन से भूखे ही है I मैंने बाबा जी को भोजन कराया और कहा कल से मै आपका भोजन लाऊंगा.


घर पहुँच ये दोनों घटनाये मैंने अपनी माता जी को बताई I तो उन्होंने कहा कल वे बच्चों और बाबा जी का खाना बना कर मुझे दे देंगी I अगली सुबह बाबा जी और बच्चों को मैंने खाना खिलाया मन को बहुत आनंद आया I
इस तरह हर रोज खाना बना कर उसका वितरण शुरू हो गया I जब इस विषय मे मैंने अपने मित्रो और प्रेरणा सेवा संस्थान के सहयोगियों को बताया तो वे सब भी सहयोग करने लगे I

जिसके बाद हमने प्रेरणा सेवा संस्थान के माध्यम से नि:शुल्क भोजन सेवा प्रकल्प “ अन्न पात्र इंडिया “ को प्रारंभ किया जिसका एकमात्र उद्देश्य है – कोई भूखा ना रहें I

बड़ी मात्रा मे भोजन बनाने के लिए “ अन्न पात्र “ द्वारा ग़ाज़ियाबाद मे स्थापित कम्युनिटी किचन मे रोटी बनाने की सेमी आटोमेटिक मशीन , आटा गुन्द्ने की मशीन , स्ट्रीम कुकर आदि लगायें गयें है और बने हुए खाने को ट्रांसपोर्ट करने के लिए टाटा ऐस गाड़ी भी है I अभी ग़ाज़ियाबाद और  हापुड़ जिले मे विभिन्न स्थानों जैसे बस स्टैंड , रेलवे स्टेशन , सरकारी अस्पताल ,मलिन बस्तियों मे जाकर रोजाना एक समय मे 1000 लोगों को खाना खिलाया जा रहा है I

कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन मे भी “ अन्न पात्र “  ने लाखों लोगो को भोजन का वितरण किया है और अब भी कर रहा है I
पैसे की कमी के कारण भूखे जरुरतमंदो को हर रोज भोजन वितरित करने के लिए अपनी 4 दुकान और 1 प्लाट / जमीन भी बेच दी है I
भूख का कोई धर्म नहीं होता

“ अन्न पात्र इंडिया “  ग़ाज़ियाबाद ही नहीं अन्य शहरों मे भी बड़ी कम्युनिटी किचन स्थापित करना चाहता है जहाँ हजारों भूखें / जरूरतमंदों के लिए पौष्टिक भोजन बनें और भोजन का नि:शुल्क वितरण किया जायें I
ये आपके सहयोग के बिना संभव नहीं है , अतः आप भी हमें सहयोग करेंI
 

Read More

Know a similar organisation in need of funds? Refer an NGO
support